“अपने मुँह मिट्ठू”

26

“अपने मुँह मिट्ठू”

वो झूठ बोल रही थी बड़े सलीक़े से
मैं एतबार न करता तो और क्या करता : दिल्ली चुनाव

दिल्ली चुनाव में पिछले 4 महीने से, अगर आप किसी ऐसे आदमी से भी पूछो जो न कभी दिल्ली गया हो, न कोई रिश्तेदार दिल्ली मे हो, वो झट से कहता है, जी दिल्ली में तो आप की सरकार आ रही है। … वजह आम आदमी पार्टी के प्रचार तंत्र, सोशल मीडिया, और विज्ञापन मीडिया ने शोर मचा रखा है।
कोई logically यह समझने को तैयार नही, केजरीवाल से कोई नया वोटबैंक नही जुड़ा। बल्कि पिछले दिल्ली चुनाव के मुकाबले इस बार, 90% मिडिल क्लास का रुझान AAP से भंग हुआ है।
रहा सहा काम शाहीन बाग के आंदोलन को समर्थन दे कर केजू ने खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार ली है। कांग्रेस पिछली बार के शून्य के मुकाबले 3-4 सीट लाती लग रही है।
ऐसे में आम आदमी पार्टी के लिये बहुमत ला पाना इस बार बहुत टेढ़ी खीर साबित होने वाली है।

खैर आप झूठ फैलाइए, हम पीछे के सच को देख रहे है। 11 फरवरी पास ही है।

इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या
आगे-आगे देखिए होता है क्या ..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here