चीन में कोरोनावायरस से 170 लोगों की मौत

11

चीन में कोरोनावायरस से 170 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पुतनिक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में चीन में 1700 नए मामले सामने आए हैं। अब तक 7711 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि वह गुरुवार को दूसरी बार आपात बैठक बुलाएगा। इसमें अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किए जाने पर फैसला लिया जा सकता है।

डब्ल्यूएचओ के निदेशक टेड्रॉस एडहॉनम गेब्रेसियोस ने बुधवार को कहा कि चीन के बाहर भी कोरोनावायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं, जो चिंता का विषय है। हालांकि, चीन के बाहर कम मामले सामने आए हैं। इससे पहले डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपात घोषित करना जल्दबाजी होगी। उधर, भारतीय विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि हम चीन में फंसे अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए दो विमान वहां भेजना चाहते हैं। भारतीय दूतावास चीन सरकार से इस संबंध में बातचीत कर रहा है।

यह मिशन सामान्य बचाव और राहत प्रयासों से अलग: पायलट संघ

भारतीय पायलट संघ ने कहा है कि एयरलाइंस किसी भी तरह की गलतियों को बर्दाश्त नहीं कर सकती और संक्रमण फैलाने का जोखिम नहीं उठा सकती है। एयर इंडिया के प्रमुख अश्वनी लोहानी को लिखे पत्र में, पायलटों के गिल्ड ने कहा कि यह मिशन सामान्य बचाव और राहत प्रयासों से काफी अलग होगा। यह नई चुनौतियों के साथ-साथ बाधाओं को भी दूर करेगा। पायलट संघ में लगभग 600 सदस्य हैं। चीन में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए दो उड़ानों का संचालन किया जाना है।

चीन में भारत से हो रही मास्क की सप्लाई

चीन में मास्क की बढ़ी मांग के बीच तमिलनाडु के मदुरै में निर्माता कंपनी N-95 ज्यादा से ज्यादा उत्पादन करने के लिए अतिरिक्त घंटे काम कर रही है। एएम मेडीवियर के एमडी अभिलाष ने कहा कि हमें भारतीय निर्यातकों से भारी संख्या में ऑर्डर मिल रहे हैं, जो चीन में मास्क भेजेंगे। हमारा उत्पादन दोगुना हो गया है।

भारत समेत 30 देशों में संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा

कोरोनावायरस का पहला मामला दिसंबर में चीन के वुहान शहर में सामने आया। इसके बाद अब तक करीब 16 देशों में कोरोनावायरस के मामले की पुष्टि हो चुकी है। साउथहैम्पटन यूनिवर्सिटी के अध्ययन के मुताबिक, संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा थाईलैंड में है। लिस्ट में जापान दूसरे और हॉन्गकॉन्ग तीसरे नंबर पर है। ऑस्ट्रेलिया 10वें, ब्रिटेन 17वें नंबर पर है। इस लिस्ट में भारत का नंबर 23वां है।

करीब 17 देशों में कोरोनावायरस के मामले की पुष्टि
दुनिया के करीब 16 देश इसकी चपेट में हैं। बुधवार सुबह तक थाईलैंड में 14, हॉन्गकॉन्ग में 10, ताइवान में 8, जापान, सिंगापुर, मकाऊ और मलेशिया में 7-7, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में 5-5, दक्षिण कोरिया, यूएई और जर्मनी में 4-4, कनाडा और वियतनाम में 2-2, कंबोडिया और नेपाल में 1-1 मामले की पुष्टि हो चुकी है।

दैनिक भास्कर का आभार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here